Menu
Lifestyle

होली – नए रंग नयी उमंग मेरे शहर में…..

Happy Holi Udaipur

Holi Celebration Udaipur फतेहसागर और पिछोला में  पानी की गपशप है. सहेलियों की बाड़ी में गीत मुखर हो गए है, गुलाब बाग में तरुनाई का नृत्य है, रंग चटक हो गए है. सुखाडिया सर्किल पर उम्र और जात पात की दीवारें टूट रही  है और राणा उदयसिंह जी की नगरी संगीत में नहा रही है. उदयपुर में अरावली की पर्वत मालाएं बोलने को आतुर है, नाथद्वारा बसंत की अगवानी को तैयार है, यह ठाकुर द्वारा मेवाड़ में गुजरात का द्वार है. रंगो का पावन त्यौहार, राधा कृष्ण के प्रेम का त्यौहार, भाईचारे और संगम का त्यौहार. पूरे भारतवर्ष में मनाई जाने वाली होली का मुख्य केन्द्र मथुरा और वृन्दावन है. यह बसंत के आगमन की खुशी है. Buying Colors on Holi आज होली का त्यौहार है. सुबह से ही दुकानों पर भीड़ है, रंग-पिचकारी, मालपुआ-गुझिये और भांग-ठंडाई की मनुहार है, अपनों का अपनों को इंतज़ार है, अतिथियों का सत्कार है. बाजारों में बुजुर्ग पाग का अदब है, हाथीपोल पर युवा रंगो का गुबार है, सर्किल पर चेतक अकेला खड़ा है, उसे महाराणा का इंतज़ार है. मेवाड़ में यह अपनापन उसकी अनूठी विरासत है. Udaipur Market रंगो के साथ हवा में घुलती उमंग ने शहर को सतरंगी चादर से ढक दिया है. नयी फसल- नया धान आने को आतुर है,  लोग घरों से निकल कर गलियों में आ गए है, और आज मजबूरी में ही सही, मोबाइल से निजात पा गए है, चटक रंगो के साथ चेहरे खिल उठे है. आज उदयपुर की फिजा का अलग ही दृश्य है. घर घर की रसोई में माँ बेटी से रौनक है, घी की खुशबू फैली है, बच्चे हुडदंग मचा रहे है. दुर्भाग्यपूर्ण है की इस उत्साह के व्यवसायीकरण ने बाजारों में ढाक और पलाश के फूलों से बने प्राकृतिक रंग की जगह कृतिम रंग और डाई को ला दिया है. फूहड़पन और अतिआधुनिकता में सतरंगी इन्द्रधनुष का कोई रंग खो ना जाये, जल और वायु में प्रदुषण का स्तर बढ़ ना जाये, इसका ध्यान रखना होगा. उदयपुर की प्रकृति को संजोये रखना हमारा हमारे शहर के प्रति पहला कर्तव्य है. मौसम के बदलाव से चर्म रोग, नेत्र रोग और श्वास से सम्बंधित बीमारियों के दस्तक देने की संभावना है, इनसे बचना होगा. प्राकृतिक रंगो का प्रयोग करे, सूखी होली खेले, जल बचाए. कोई भी एलर्जी होने पर तुरंत डॉक्टर को दिखाए. बसंत का स्वागत कीजिये, खूब खुशियाँ बटोरिये और सबमें बाटियें. हम कामना करते है की आप रंगो का यह पर्व उत्साह और उमंग से मनाएं और बार बार मनाएं. मेवाड़ के सभी वासियों को उदयपुर ब्लॉग की ओर से होली की हार्दिक शुभकामनाएँ. Happy Holi Udaipur

Photos by : Mujtaba R.G.

About Author

Doctor and Writer @ UdaipurBlog.com

17 Comments

  • Sidharth deval
    March 8, 2012 at 6:52 pm

    Ye article bahut kuch manu ki style mein likha gaya hai…

    Reply
  • monika
    March 8, 2012 at 7:03 pm

    ???? ??? ?????? ?? ???? ???????? ?? ???? ??? ?? ?? ??????? ??? :))) ???? ??? :)) ???? ?????? ???? ?? ?? ?? ??? ??? ?? ???? ??????!

    ????????? ?? ?? ??? ??? ?? ?? ??? ?? ?????? ????? ????? ?? ?? ???? .. ??? ?? ?? ?? ???? ???? ?? ??? ????? ???? ?? ???? ??? , ????? ?? ???? ???? ?? ?? ???? ????? ???? ???? ?? ??? ?? … ????????

    Reply
    • ???? ???, ??????
      March 8, 2012 at 8:55 pm

      ??? ????

      Reply
  • Sidharth deval
    March 8, 2012 at 7:21 pm

    Monika ji mene yah nahin kaha ki unhone manu ki nakal ki hai…mene ye kaha hai ki unki lekhan ki shaily manu se milti hai…kripya mujhe galat na samjhe….vaise article bahut badhiya likha gaya hai….jai bharat…

    Reply
  • ???? ???, ??????
    March 8, 2012 at 7:45 pm

    ???? ???? ??,???? ??? ????? ??? ???,
    ?? ??? ?? ??? ?? ????? ?? ???.
    ????? ?? ????? ??,???? ????? ?? ???,
    ????? ?? ??? ???, ??????? ?? ???.

    ?????? ???? ?? ?? ????? ?? ???????? ?? ????. ????? ???? ?? ??? ??? ?? ???? ?? ????? ?? ????? ?? ???? ??? ?? ??. ??? ??? ????? ?? ??? ???? ?? ?? ?? ?????? ?? ??? ?? ??? ?? ????? ?? ????? ?? ???? ??.
    ??? ????????? ???? ?? ????? ?? ??? ??? ?? ???????, ?? ???? ??? ?? ???? ???? ??. ?????? ?? ?? ?? ????….

    ?? ?? ?? ?? ??? ?? ?? ??????? ?? ???,
    ???? ?? ??? ???? ?????? ?? ???.
    ???? ?? ???? ??? ??? ?? ?? ??? ??,
    ????? ?? ?? ???? ?????? ?? ???…
    ????? ?? ????,
    ???? ???.

    Reply
    • Sanjit Chohan
      March 8, 2012 at 8:12 pm

      Gajab …. 🙂

      Reply
  • Sidharth deval
    March 8, 2012 at 8:12 pm

    Bhai arya manu….udaipur shahar ki yahi to baat hai ki yahan paraye bhi apne ho jate hein…jati aur dharm ke bandhan ko bhulkar log pyaar mein kho jate hein…hinsa aur dwesh se nahin hai is shahar ko koi kaam….dil ko chu leta hai yahan ka prem nishkaam….pichola jheel ho ya fatahsagar ka kinara…prem to yahan ki aabohawa mein hai jaise samaya….moti magri ki mat pucho koi baat…maharana pratap ke ghule hein yahan jazbaat…aakhir mein yahi kahna chahunga ki…vo dhanya hai jisne dekha hai yahan ka sawan…kyonki is dhara ka har ek kan hai paawan….

    Reply
    • Sanjit Chohan
      March 8, 2012 at 8:13 pm

      Wahhhh … 😀 Kya Likhte ho aap log <3 🙂

      Reply
    • ???? ???, ??????
      March 8, 2012 at 8:38 pm

      ?? ??? ??? ? ???.

      Reply
  • Sanjit Chohan
    March 8, 2012 at 8:16 pm

    ???? ??? ???? ??? .. ?????? ?? .. ????? ????? ??? | ???? ?? ?????? .. 🙂

    Reply
    • drishti soni
      March 9, 2012 at 1:11 am

      thankyu… 🙂
      🙂

      Reply
  • sunil
    March 8, 2012 at 8:40 pm

    grt article…

    Reply
    • drishti soni
      March 9, 2012 at 1:10 am

      thankyu 🙂

      Reply
  • monika
    March 8, 2012 at 9:16 pm

    ??? ????????? ?? ?? ???? ?? ???? ?????? ?? ???? ????????? ??? ?? ??? ?? ???? ???? ???? ????? !! ???? ?? ?? ?? ????? ???? ?????? ???? ?? … ?? ??????? ??? ???? ????? ?? 🙂 ??? ???? ???? ???? ???? ??????? ?? ???? ???? ????? ?? ???? ??? ?? 😉 ???? ?? ???? ?????? ?? ???? ???? ?? ??????? ???? ????????? ?? ???? ?? ???? ???? ………………..

    Reply
  • drishti soni
    March 9, 2012 at 1:09 am

    ?? ??? ?? ??? ?? ????….?????? ?? ?? ???? ??????? ?? ?? ???? ???? ??? ???? ?? ???? ??….
    @?????? ???? , ?????… UB ?? ???????, ???? ???? ???? ????? ??…

    @???? ??? ??…. ???????, ???? ?? ?? ???? ???? ???…

    🙂 🙂

    Reply
  • Dr Bajrang Soni
    May 3, 2012 at 11:35 pm

    Mujhe tumse esi hi ummid hai. sare rang tumhe mubarak — Papa

    Reply
  • Chhatrapal Shivaji
    June 19, 2012 at 2:49 am

    Jay Ho…

    Reply

Leave a Reply to sunil Cancel Reply