उदयपुर 27 जुलाई 2013। ‘‘प्रकोष्ठों के माध्यम से भाजपा में कार्य विस्तार एवं क्षेत्र विशेषज्ञ को जोड़ने का लक्ष्य संगठन के प्रति आस्था एवं मतदान को बढ़ाएगा। प्रकोष्ठ के माध्यम से विभिन्न क्षेत्रों के विषय विशेषज्ञ एवं उक्त कार्य में संलग्न आमजन के सुख-दुःख में भागीदारी का यह उत्कृष्ट कार्य सेतु के रूप में प्रकोष्ठ संयोजक एवं सहसंयोजक निपुणता से कर सकते हैं। इसिलिए सामाजिक-आर्थिक-राजनीतिक-भौगोलिक-शैक्षणिक आदि क्षेत्रों के साथ-साथ पंचायत एवं सहकारिता एवं स्थानीय निकाय पर विशेष केन्द्रित कर ऐसे समस्त वर्ग को भाजपा से जोड़ने का कार्य प्रकोष्ठ के माध्यम से करना है।‘‘ उपरोक्त कथन के साथ मुख्यवक्ता के रूप में बोलते हुए पूर्व प्रदेश मंत्री प्रमोद सामर ने कहा कि नदी-तालाब-समुद्र में पानी सीधा केवल आकाश से ही नहीं अपितु विभिन्न छोटे-छोटे नदी-नालों आदि जल स्त्रोतों के माध्यम से आने पर ही उसकी पूर्णता दिखाई देती है। उसी तरह से प्रकोष्ठों के माध्यम से जुड़ने वाले हजारों कार्यकर्ताओं के विषय विशेषज्ञ एवं संबंधित क्षेत्र के कारण पार्टी का आज यह फैलता हुआ क्षितिज चारों दिशाओं में दिखाई दे रहा है।
BJP Udaipur Meeting
सामर ने बैठक को सम्बोधित करते हुए कहा कि समाज के भिन्न-भिन्न क्षेत्रों में भाजपा के विस्तार-प्रसार की जिम्मेदारी सभी प्रकोष्ठों की है। इसी उद्देश्य से गठित प्रकोष्ठ के माध्यम से जनाधार बढ़ाने में महत्वपूर्ण योगदान रहता है, क्योंकि प्रकोष्ठ द्वारा भाजपा के अनुकूल वातावरण बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका रहती है।
भारतीय जनता पार्टी, देहात जिला उदयपुर के विभिन्न प्रकोष्ठों के संयोजकों एवं सहसंयोजकों की आज बैठक भाजपा कार्यालय में जिला अध्यक्ष सुन्दरलाल भाणावत की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई।
बैठक को भाजपा देहात के पूर्व जिलाध्यक्ष हरीसिंह चैहान एवं फूलचन्द मीणा, जिला उपाध्यक्ष नाथूलाल जैन, महामंत्री चन्द्रगुप्तसिंह चैहान, डाॅ. गीता पटेल, रोशनलाल जैन आदि ने अपने उद्बोधन में प्रकोष्ठों का गठन, महत्व, आवश्यकता, शिक्षण-प्रशिक्षण एवं विस्तार पर विस्तृत व्याख्या की।
जिलाध्यक्ष सुन्दरलाल भाणावत ने कहा कि प्रकोष्ठों के बिना पार्टी अधूरी है। क्योंकि पार्टी का सर्वव्यापी स्वरूप में प्रकोष्ठों की महत्ती भूमिका है। इसके कारण विभिन्न जाति, समुदाय के साथ-साथ समाज के सर्वांगिण विकास के क्षेत्र के जानकार व्यक्ति पार्टी में सेवा एवं दिशा देते हैं। इसिलिए जिला से मण्डल तक अधिकाधिक कार्यकर्ताओं को जोड़ कर दायित्व एवं कर्तव्य बोध करावें। यही लक्ष्य एवं दिशा पार्टी के पक्ष में मतदान बढ़ाने में सार्थक होगी।

प्रथम सत्र में सभी प्रकोष्ठों के संयोजकों एवं सहसंयोजकों ने अपना-अपना वृत रखते हुए संगठनात्मक स्थिति एवं आगामी कार्यक्रमों पर विचार व्यक्त किये। प्रकोष्ठों के निरन्तर मार्गदर्शन हेतु जिलाध्यक्ष भाणावत ने 4 पदाधिकारी हरिसिंह चैहान, नाथूलाल जैन, दर्शन शर्मा, भंवर सिंह पंवार की एक समिति का गठन किया।
बैठक के अन्त में सर्वसम्मति से तय किया गया कि प्रकोष्ठों का प्रशिक्षण शिविर आगामी एक सप्ताह में विस्तार योजना को पूर्ण करना एवं प्रत्येक प्रकोष्ठ द्वारा अपना-अपना नीतिपत्र बनाना जो घोषणा पत्र में सम्मिलित हो सके एवं प्रकोष्ठों के विषय विशेषज्ञों को मागदर्शन हेतु प्रभारी बनाना।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *