Mass Wedding Ceremony by Narayan Seva Sansthan on 14th & 15th June 2014

Narayan Seva Sansthan, is organizing Mass Wedding Ceremony on 14th June 2014 – 15th June 2014, at the Ramlila Maidan Ground, New Delhi.
Narayan Seva Sansthan, a known charitable organization based out in Udaipur, Rajasthan is planning to host a lavish wedding ceremony for 101 disabled couples. The vision to serve and create a blissful matrimonial alliance for the disabled couples is the motto of this mass wedding ceremony, which is due to happen on14th June 2014 – 15th June 2014, at the Ramlila Maidan Ground, New Delhi. “We’ve given treatment and vocational training to our patients. But by getting them married, we are aiding in completing their family set up,” said Narayan Sewa Sansthan president Prashant Agrawal.

Mass Wedding Ceremony by Narayan Seva Sansthan on 14th & 15th June 2014-3

The two days free of cost massive event are going to be an extensive arrangement for the brides as well as the grooms who are ready to tie the nuptial knot for a lifetime. Registration room, Hospitality room, Control room, Exhibition, Physiotherapy, Workshop, Traffic control and other requirements have been taken care of, thereby providing quality time to the grooms and brides. One of the unique features about this event is the cosmopolitan culture under which the wedding will be taking place. Whether they Muslims, Hindus, Christians or from any other religion, this unique occasion will witness the nuptial ties among various to-be-couples from several backgrounds.

Another special feature about this auspicious event is that over 950 patrons from countries like USA, South Africa, Nepal and other countries will also grace the event, apart from the Indian fraternity who will be a witness to this event.

Narayan Seva Sansthan has engaged itself in different educational, social and medical services for the persons well as that needy, especially from the tribal belt. It is maintaining and orphan children’s hostel and a residential school for the blind, deaf-dumb and mentally retarded children. The Sansthan has frequently been organizing service camps to distribute food grains, medicines and basic utility items to poor tribal, pulse polio drive, environmental awareness camps, distribution of aids & appliance as calipers, crutches, tricycle & wheelchairs. Till now, the Organization has successfully conducted several ‘Free of Cost’ diagnostic, selection camp and corrective surgeries of more than 1, 82, 000 for the patients suffering from polio and other physical disabilities (by birth). Kindly visit the website of the organization and donate to poor and physically challenged people at http://www.narayanseva.org/donation/donation.html or call it at 09649499999 or +91-294-6622222,

About the Organization:

Narayan Seva Sansthan(Founded in 1985) aim is to provide polio treatment, education and vocational training for the disabled rehabilitation of the disabled. Vocational training centers are being conducted by the Organization to reduce unemployment and poverty, where various ‘Free of Cost’ programs relating to Computer training, Electronic equipment repairing, Hardware and Networking, Home appliances repairing, Sewing training, Mobile repairing etc are being conducted.

धूमधाम से मनाया 67 वां स्वतन्त्रता दिवस – नारायण सेवा संस्थान

उदयपुर, 15 अगस्त। नारायण सेवा संस्थान द्वारा 67 वां स्वतन्त्रता दिवस धूमधाम एवं हर्षोल्लास से मनाया गया। स्वतन्त्रता दिवस के अवसर पर संस्थान के चैनराज सावंतराज लोढ़ा पोलियो हास्पीटल प्रांगण में डाॅ. जी.सी. लोढा सचिव, रेड क्रास सोसायटी द्वारा ध्वजारोहण किया गया। इस अवसर पर डाॅ. एस. चुण्डावत, डाॅ. ओ.डी. माथूर, श्री सोहनलाल पूर्बिया, किरण नागौरी, अध्यक्ष भिण्डर मित्र मण्डल, डाॅ. प्रशान्त अग्रवाल, श्रीमती वंदना अग्रवाल, श्री जगदीश आर्य, एवं देवेन्द्र चैबीसा एवं श्री जगदीश आकाश ने अपना उद्बोधन दिया। कार्यक्रम का संचालन संस्थान अध्यक्ष डाॅ. प्रशान्त अग्रवाल ने किया।

Narayan Seva Sansthan Udaipur Narayan Seva Sansthan Udaipur

इसके बाद संस्थान के भवन सेवाधाम एवं अंकुर काम्पलेक्स में क्रमशः ध्वजा रोहण किया गया जहां देश के सभी प्रदेशों से आये निःशक्तजनों के 1000 से अधिक परिजनों की उपस्थिति ने समस्त भारत का दिग्दर्शन कराया। इस अवसर पर संस्थापक एवं अन्तर्राष्ट्रीय चेयरमेन डाॅ. कैलाश मानव ने कहा कि आजाद भारत के गरीबों को गरीबी एवं बीमारों को बीमारी तथा निःशक्तों को निःशक्तता से मुक्त करना इन्हें सच्ची आजादी देना होगा। जिसमें सभी का साथ एवं सहयोग आवश्यक है।
इसके बाद अपनाघर में ध्वजारोहण एवं रंगारंग कार्यक्रम का आयोजन हुआ जहां प्रज्ञा चक्षु, मूक बधिर, मानसिक विमंदित बच्चों ने परेड, जिम्नास्टिक, देश भक्ति के गीत कविताएं एवं नृत्य प्रस्तुत कर लोगों की तालियां बटोरी। तत्पश्चात सेवा महातीर्थ बड़ी में पूज्य कैलाश मानव की उपस्थिति में ध्वजारोहण एवं स्वतन्त्रता सैनानियों का अभिनन्दन किया गया। इस अवसर पर स्वतन्त्रता सैनानी श्री सुजानमल जैन तथा श्री महेन्द्र प्रताप जी वया को प्रतीक चिन्ह, श्रीनाथ जी का उपरणा, मेवाडी पाग एवं शाॅल ओढ़ाकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम का संचालन महिम जैन एवं प्रशान्त अग्रवाल ने संयुक्त रूप से किया। इस अवसर पर श्री कमला देवी अग्रवाल, श्रीमती वंदना अग्रवाल ने भी अपना उद्बोधन दिया। कार्यक्रम में निराश्रित बालगृह के बाल गोपालों, प्रज्ञा चक्षु बालकों, मूक बधिर बच्चों एवं विमंदित बालक बालिकाओं ने रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत किया।

कठार में सौ बोरी गेहूं का वितरण – नारायण सेवा संस्थान

उदयपुर, 1 जुलार्इ। नारायण सेवा संस्थान के संस्थापक श्री कैलाश ”मानव के निर्देश पर रविवार को आदिवासी बहुल तहसील गोगुन्दा के गांव कठार में विशाल सहायता शिविर लगाया गया। संस्थान निदेशक श्रीमती वंदना अग्रवाल के नेतृत्व में आयोजित शिविर में जरूरतमंद परिवारों को 100 बोरी गेहूं एवं दो हजार पैकेट पौषिटक बिसिकटस का वितरण किया गया। शिविर में कठार व आसपास गांवों के 350 से अधिक स्त्री-पुरूषों ने भाग लिया।

1005271_640063396004382_1425214390_n 1043964_640063279337727_2067614646_n 296212_640061052671283_1397439669_n 1044683_640054916005230_745681791_n

श्रीमती अग्रवाल ने बताया कि शिविर में ऐसी विधवा, निर्धन व बेसहारा महिलाओं का भी चयन किया गया, जिन्हेें संस्थान की ओर से प्रति माह उनकी पारिवारिक जरूरत के मुताबिक राशन उपलब्ध कराया जाएगा। उन्होंने बताया कि आगामी दिनों में ऐसे शिविरों के आयोजन के लिए अन्य क्षेत्रों का चयन किया जा रहा है। शिविर में सहयोगी साधक श्रीमती यशोदा पणिया, श्रीमती जया भल्ला, सुश्री पलक, महर्षि, श्री दीलिप चौहान आदि ने अनाज वितरण में सहयोग किया।

नि:शुल्क विकलांग युवक-युवती समारोह – मेहंदी रस्म व विन्दोली

उदयपुर, 22 जून। नारायण सेवा संस्थान के तत्वावधान में 20 वां नि:शक्तजन युवक-युवती सामूहिक विवाह समारोह शनिवार को सेवा महातीर्थ बड़ी में आत्मीय स्नेह मिलन एवं मेहन्दी की रस्म के साथ शुरू हुआ। रविवार 23 जून को 51 विकलांग जोड़े पवित्र अगिन के सात फेरे लेकर जन्म-जन्मान्तर के बंधन में बंध जाएंगे। प्रात: 9.30 से दोपहर दो बजे तक संस्थान संस्थापक श्री कैलाश ‘मानव के सानिध्य में हुए आत्मीय स्नेह मिलन एवं मेहन्दी रस्म समारोह में देशभर से आए 500 से अधिक अतिथियों ने भाग लिया।

Naryan Seva Sansthan Udaipur Naryan Seva Sansthan Udaipur Naryan Seva Sansthan Udaipur Naryan Seva Sansthan Udaipur

जिनका मेवाड़ी पाग, उपरणे और प्रतीक चिन्ह भेंट कर अभिनन्दन किया। विशिष्ट अतिथि विजय खण्डेलवाल कोलकाता, ओमप्रकाश अग्रवाल आगरा, कानितलाल मूथा पाली, श्रीमती प्रेम निजावन, श्रीमती अंजु क्वात्रा, दिल्ली रणजीत बाघेला अहमदाबाद, संदीप पुरोहित जोधपुर, भरतलाल अग्रवाल पूना, सावित्री शर्मा जयपुर व बंशी भार्इ राजकोट थे। श्री कैलाश मानव ने कहा कि प्रभु की ही कृपा और दानदाताओं के आशीष का सुफल है कि संस्थान विकलांग व निर्धन युवक-युवतियों के सामूहिक विवाह वर्ष में दो बार आयोजित कर उनके पुनर्वास का मार्ग प्रशस्त करने में सहायक बन सका है। इस बार 51 जोड़े परिणय सूत्र में बंधकर सुखद जीवन की ओर अग्रसर होंगे। इस अवसर पर पिछले विवाहों में पाणिग्रहण करने वाले कर्इ जोड़े अपने बच्चों के साथ भी उपसिथत थे। जिन्होंने सुखद दाम्पत्य के बारे में बताया। संस्थान अध्यक्ष डा. प्रशान्त अग्रवाल ने अतिथियों का स्वागत करते हुए बताया कि पिछले दस वर्षों में संस्थान 800 विकलांग युवक-युवतियों के नि:शुल्क विवाह करवा चुका है और सभी सद गृहस्थी के साथ खुश है। समारोह में संस्थान के नि:शुल्क सेवा प्रकल्पों पर आधारित डाक्यूमेट्री फिल्म का भी प्रदर्शन किया गया। कार्यक्रम को सहसंस्थापिका कमला अग्रवाल, निदेशक जगदीश आर्य, देवेन्द्र चौबीसा ने भी सम्बोधित किया। संस्थान निदेशक श्रीमती वंदना अग्रवाल ने बताया कि परिणय सूत्र में बंधने वाली सभी 51 युवतियों की मेहंदी रस्म परम्परागत गीतों व नृत्य के साथ हुर्इ। शाम 5 बजे नव-युवलों की सजी धजी बगियों में टाउन हाल से बैण्ड बाजों के साथ बिन्दोली निकाली गर्इ। जो सूरजपोल, देहलीगेट, बापू बाजार होते हुए पुन: टाउन हाल पहुंची। बिन्दोली में देश के विभिन्न भागों से आए अतिथियों व नव-युगलों के परिजन नाचते गाते चल रहे थे। यहां से सभी बसों से विवाह स्थल बड़ी पहुंचे, जहां रात्रि में महिला संगीत का कार्यक्रम हुआ। दिल्ली के कलाकारों ने श्री कृष्ण व शिव आराधना नृत्यों की प्रस्तुति दी। श्रीमती अग्रवाल ने बताया कि रविवार प्रात: इन सभी जोड़ों का वैदिक विधि विधान से 51 वेदियों पर विवाह सम्पन्न होगा। समारोह का संचालन श्री प्रशानत अग्रवाल व महिम जैन ने किया।

20वें विकलांग सामूहिक विवाह की तैयारियां

उदयपुर, 7 जून। नारायण सेवा संस्थान की ओर से आगामी 23 जून को होने वाले 20 वें निःशुल्क विकलांग एवं निर्धन युवक-युवती सामूहिक विवाह की तैयारियां प्रारम्भ कर दी गई हैं। यह जानकारी देते हुए संस्थान संस्थापक श्री कैलाश मानव ने बताया कि इसी दिन आत्मीय स्नेह मिलन एवं भामाशाह सम्मान समारोह भी होगा। जिसमें देश भर से संस्थान सहयोगी भाग लेंगे।
संस्थान अध्यक्ष डाॅ. प्रशान्त अग्रवाल ने बताया कि प्रस्तावित सामूहिक विवाह में 51 विकलांग जोड़ों के परिणय सूत्र में बंधने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। सेवा महातीर्थ बड़ी में इसके लिए तैयारियां आरम्भ कर दी गई हैं। जिले के विभिन्न हिस्सों में संस्थान साधकों के दल भेजे गए हैं जो निर्धारित पात्रता रखने वाले युवक-युवतियों का पंजीयन कर रहे हैं।