उदयपुर के रोड साइड फेवरेट फ़ूड स्टाल्स [Part 1]

आप सुबह पार्क एवेन्यू के साबुन से नहाते हैं। एक्स का डियो छिड़कते हैं। एरो की शर्ट व किलर की जीन्स पहनते हैं, बालों में सेट वेट का जेल, आँखों पर रेबेन का चश्मा और पावों में ऐडीडास के जूते पहन कर निकल पड़ते हैं अपनी यामाहा आर 15 पर अपने दोस्त के साथ उदयपुर की सड़को पर तफरी करने के लिए। ठेठ भाषा में तफरी को शायद आप कुछ और भी कहते हैं, खैर रहने दीजिये। कुछ देर बाद आपकी बाईक के पीछे बैठा आपका दोस्त कहता है – यार भूख लगी है कुछ खाते हैं। और आप अपनी मनपसंद डिश खाने के लिए अपनी बाईक सड़क किनारे एक ठेले पर रोक देते हैं। श्रीमान जी ऊपर से नीचे तक आप पूरा शॉपिंग मॉल लेकर चल रहे हैं। जहाँ हर एक ब्रांड आपके पहनावे में झलक रहा है वहां खाने के लिए रोड साइड स्टाल? कुछ समझ नहीं आया। इसका मतलब कुछ तो जादू है उनके स्वाद में जो आप वहां रुक कर खाने के लिए लेश मात्र भी नहीं झिझकते। इसी बात के चलते हमने पड़ताल की उदयपुर के कुछ खास स्टाल्स की और जाना के वे इतने पॉपुलर कैसे हो गए, और हाँ कुछ समय के साथ साथ पॉपुलर हो रहे हैं । आइये उदयपुर शहर के अलग अलग हिस्सों के कुछ रोड साइड स्टाल को ज़रा करीब से जानें।

भैंरूनाथ टी स्टाल

bherunath tea stall udaipur

 

भैंरूनाथ टी स्टाल सुखाडिया सर्किल पर स्थित है। इनकी चाय पर यकीन करने से पहले मैंने एक चाय आर्डर की। सर्दी के मौसम में चाय कौन नहीं पीना पसंद करेगा बशर्ते की वो बनी शानदार हो। मैंने चाय का एक घूँट भरा, वाकई मज़ा आ गया। लगा तन में जैसे नयी जान आ गयी हो। स्टाल के मालिक भैरू जी ने बताया कि वे 10 साल से ये स्टाल चला रहे हैं। वे सुबह 9 बजे से रात 8 बजे तक चाय पिलाते हैं। भैरूं जी वैसे फ़तेह नगर के रहने वाले हैं और व्यापर के सिलसिले में फिलहाल यही रहते हैं। तो दोस्तों 5 रुपये में एक कप बढ़िया चाय कुछ बुरा सौदा नहीं है।

 

शंकर मद्रासी डोसा सेण्टर

shankar madrasi dosa udaipur

 

चलिए अब हम आपको ले चलते हैं सरदारपुरा रोड की तरफ। इस रोड की साइड में आपको मिलेंगे शिवलाल जी जो पिछले 8 साल से ये स्टाल चला रहे हैं। जैसा की नाम से पता चलता है वे साउथ इंडियन डिशेस का स्टाल लगाते हैं। यहाँ मसाला डोसा 30 रुपये व इडली (2 पीस) केवल 20 रुपये में मिल जाती है। 20 से 30 रुपये में अगर पेट भरता है तो मेरे हिसाब से ये बेस्ट डील है। शिवलाल जी इडली, डोसा बनाने से लेकर परोसने तक साफ़ सफाई का खासा ध्यान रखते हैं। साउथ इंडियन फ़ूड का स्टाल उदयपुर में बहुत कम ही देखने को मिलता है।

 

जय श्री भैरूं भवानी चायनीस

bheru bhawani chinese food udaipur

 

यहाँ पहुचते ही सबसे पहले मुझे मेनू कार्ड थमा दिया गया। सच बताऊँ तो मेनू में 21 आइटम लिखे थे। मैंने तुरंत पूछा क्या सब मिलेगा? तो सामने से जवाब आया 17 – 18 तो आइटम तो मिल ही जायेंगे। हैं न ग़ज़ब की बात। एक छोटे से स्टाल पर 17 – 18 वैराइटी एक साथ मिलना। ये हैं गोगुन्दा के रहने वाले निर्भय जी जो चायनीस खाने में महारथ हासिल रखते हैं। ये पिछले 5 साल से RMV स्कूल (गुलाब बाग रोड) के बाहर चायनीस खाने की स्टाल लगा रहे हैं। मंचूरियन, पनीर चिल्ली से ले कर सूप तक मिलता है। और रेट हैं 15 रुपये से लेकर 45 रुपये तक। निर्भय जी की स्टाल पर ज़्यादातर आने वाले लोग स्कूल व कॉलेज के बच्चें ही है।

 

अमेरिकन भुट्टा

 

american bhutta

 

बैंक तिराहा बापू बाज़ार में मिलने वाले अमेरिकन भुट्टे से उदयपुर का कौन शख्स वाकिफ नहीं है? इस स्टाल के ओनर शंकर जी पिछले 10 सालों से भी ज्यादा से ये स्टाल लगा रहे हैं। सुबह 11 बजे से कच्चे भुट्टे और फिर शाम 5 बजे से भुट्टे से बनी अलग अलग चीज़ें बेचते हैं जिनमे बॉयल्ड भुट्टा, स्वीट कॉर्न, चीज़ कॉर्न, कॉर्न चाट और राब शामिल है। शंकर जी ने बताया की मॉल में मिलने वाले कॉर्न में अधिकतर फ्रोजेन कॉर्न इस्तेमाल किया जाता है जबकि वे सब कुछ फ्रेश भुट्टे से बनाते हैं। अमूल बटर का इस्तेमाल करते हैं यानि की सेहत से किसी भी तरह का खिलवाड़ नहीं किया जाता। पूछने पर बताया की ज़्यादातर भुट्टा वे गुजरात व महाराष्ट्र से मंगाते हैं। इनके यहाँ मिलने वाले प्रोडक्ट्स 10 से 40 रुपये तक के हैं व सभी वर्ग के ग्राहक इनके यहाँ आते हैं।

 

सांवरिया चाट सेण्टर

sanwariya patase

 

TRI ऑफिस के बाहर अशोक नगर मेन रोड पर श्री रोहित साहू जी सांवरिया चाट सेण्टर नामक स्टाल लगाते हैं। चटपटी चाट का मज़ा आप शाम 5 बजे से ले सकते हैं। अक्सर इनके स्टाल पर भीड़ भाड़ दिखाई देती है। यहाँ मिलने वाली चाट में सूजी के पतासो से बनी पानी पूरी, आलू टिक्की, भेलपुरी व दही पूरी शामिल है। पानी पूरी के लिए ख़ास हींग व जीरे का झोल बनाते हैं। व आलू की टिकिया शुद्ध देसी घी में पकाते हैं। रोहित जी पिछले 8 सालो से उदयपुर के लोगो को चाट के चटखारे लगवा रहे हैं। रोहित जी गंगापुर भीलवाडा के रहने वाले हैं।

 

बॉम्बे पाव भाजी

bombay pav bhaji

100 फिट तिराहा यूनिवर्सिटी रोड पर नाथूलाल जी की पाव भाजी की स्टाल है। इनके हाथ की पाव भाजी वाकई लाजवाब है। दोपहर 3 बजे से लेकर रात 10 बजे तक आप यहाँ पाव भाजी और दाबेली का लुत्फ़ उठा सकते हैं। पिछले 2 – 3 महीनो से उन्होंने कश्मीरी पुलाव भी अपने मेनू में शामिल कर लिया है। बटर पाव भाजी 40 रुपये व सादा पाव भाजी 30 रुपये में उपलब्ध है। फ़तेह नगर के रहने वाले नाथू जी पिछले 4 वर्षों से स्वादिष्ट पाव भाजी खिला कर उदयपुर के लोगों के दिलों में अपनी विशेष जगह बनाने में जी जान से जुटे हुए हैं।

 

 

पंडित जी के आलू बड़े

pandit ji aloo bade

फ़तेह स्कूल के बाहर एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी के सामने आलू बड़े का स्टाल चलाने वाले प्रह्लाद शर्मा जी से शायद ही कोई उदयपुर वासी नावाकिफ हो। खैर मेरी उनसे मुलाक़ात का पहला मौका था। जब भी वहां से गुज़रता था हमेशा उनके स्टाल के बाहर भीड़ नज़र आती थी। आज भी यही हाल था। मेरे सामने शर्मा जी ने करीब 50 आलू बड़े कढ़ाई से निकले। सिर्फ 3 मिनट के अन्दर सब साफ़ हो गए। वे फिर से आलू बड़े की दूसरी खेप निकलने में लग गए। शर्मा जी सन 1994 से यहाँ के निवासियों को चाव से आलू बड़े खिला रहे हैं। यदि आपको इनके हाथ के आलू बड़े चखने हैं तो आप दोपहर 12 से शाम 6 बजे तक इनके स्टाल पर पधार सकते हैं। वैसे शर्मा जी नागदा रतलाम से ताल्लुक रखते हैं।

 

Read the English Version of the Above Post : Click Here

Comments

comments

9 Comments - Add Comment

Reply