Media steals credits of UdaipurBlog.com Pictures : ये तो हद ही हो गयी !!

27
stop stealing credits and photos
Image Credits: http://www.flickr.com/photos/samiksha

इसे कहते है, मेहनत करे कोई और “जनहित” के नाम पर उसका लाभ उठाये कोई ! कुछ ऐसा ही हुआ है हाल ही में “उदयपुर ब्लॉग”(UdaipurBlog.com) के साथ और करने वाले और कोई नहीं अपितु लोकतंत्र के चौथे स्तंभ “पत्रकारिता” के लोग, समाज जिनसे उम्मीद लगाये बैठा होता है कि वे “सच्चाई और साफगोई ” के साथ हर बात आम और खास तक पहुंचाएंगे, किन्तु यही प्रिंट मिडिया जब किसी और के कार्य को अपने “लाभ” हेतु प्रयोग में ले और वो भी इतनी चतुराई से कि कोई उन पर उंगुली नहीं उठा सके.

दरअसल मामला हाई-प्रोफाइल शख्सियत से जुड़ा है. हाल ही में अभिनेता रणबीर कपूर उदयपुर आये. शहर में अलग अलग जगह अभिनेत्री दीपिका पादुकोण के साथ शूटिंग की और अपनी आदत से मजबूर होकर सभी जगह “धुएं के छल्ले भी उडाये…” उदयपुर ब्लॉग के छायाकार श्री मुज्तबा आरजी ने गणगौर घाट पर उनके इस कृत्य को कैमरे में कैद किया. उदयपुर ब्लॉग ने उन तस्वीरों को मई 28 को अपने फेसबुक पेज(Facebook.com/UdaipurBlog) पर डाला और लो जी हो गया बवाल !

अगले ही दिन ये मामला सुर्ख़ियों में आ गया, 31 मई को एक प्रमुख समाचार पत्र ने खबर प्रकाशित कर दी और जब कल उदयपुर सेशन कोर्ट ने जमानती वारंट जारी किया तो सभी समाचार पत्रों ने 2 जून को खबर छाप दी.

खबर प्रकाशित की तो साथ में सबूत के तौर पर फोटो तो चाहिए था ही, अब किसी के पास फोटो था नहीं तो उदयपुर ब्लॉग के आर्टिकल से या यूबी के ही फेसबुक पेज से फोटो को “कॉपी” किया गया. बहुत सफाई से फोटो पर लगे “वाटर मार्क” जिसमे यूबी(UB – UdaipurBlog.com) का नाम लिखा था, उसे “फोटोशोप” में जाकर हटाया गया और खबर के साथ आज के अखबार में छाप दिया. ये किसी एक समाचार पत्र ने नहीं किया अपितु लगभग सभी प्रमुख समाचार पत्र इस भेडचाल में शामिल रहे.

 

अगर आपको विश्वास नहीं हो रहा तो पहले देखिये असल फोटो जिस पर उदयपुर ब्लॉग का वाटरमार्क लगा है और रणबीर कपूर सिगरेट पीते दिखाई दे रहे है:

UdaipurBlog album Picture

 

अब देखिये अख़बारों में छपी खबर और उस के साथ छपे फोटो को … :

Dainik Bhaskar 30 June, 2012 Copied Picture

 

Bhaskar Calling it as their Impact - 2June, 2012 Newspaper

 

Rajasthan Patrika Newscutting (Last Page) - 2 June, 2012

 

Pratahkal Newscutting (First Page) - 2 June, 2012 - calling it - "SABSE PEHLE PRATAHKAL"

 

स्थानीय समाचार पत्रों का तो ठीक, मुंबई के सांध्य दैनिक “मिड डे” ने भी उदयपुर ब्लॉग के फेसबुक पेज से सभी फोटोग्राफ्स को कॉपी किया और उन पर से वाटरमार्क हटाकर उन्हें अपने वेबसाईट पर प्रकाशित कर दिया,बिना क्रेडिट दिए. यहाँ तक भी ठीक था, एनडीटीवी ने मिड डे के हवाले से उन फोटोग्राफ्स को उठाकर अपनी वेब पर प्रकाशित कर दिया. और उसका क्रेडिट मिड डे(Mid-Day.com) को डे दिया. मतलब जिसने असली मेहनत की, उसका कही नाम नहीं… खुल्लम खुला चोरी नहीं कहेंगे तो क्या कहेंगे इसे..???

ये रही मिड डे और एनडीटीवी की खबर, जिसमे एक (मिड डे) फोटो को “क्रॉप”(Crop) करके छाप रहा है तो दूसरा बिना पड़ताल किये उन फोटो के लिए मिड डे को ही क्रेडिट डे रहा है.

Mid Day Newspaper - page 32 - Photo
Online Newspaper Cutting of Mid-Day newspaper
  • Mid-Day.com : Article (Where they copied the image bluntly by cropping the watermark)
  • NDTV.com: Article(Where they gave the image credits to : Mid-Day.com)

 

अब देखिये असली फोटो, जिन पर यूबी का वाटरमार्क लगा हुआ है:

UdaipurBlog.com Real Photo

 

UdaipurBlog.com Real Photo

 

UdaipurBlog.com Real Photo

 

UdaipurBlog.com Page : Album Link

 

इस बारे में जब मिड डे की सह संपादक जान्हवी सामंत से बात की तो उन्होंने सफेद झूठ बोलते हुए हमें कहा कि उन्होंने तो ये फोटो एक अन्य वेबसाईट “पिंक विला”(PinkVilla.com) से उठाये है, और वहाँ कोई वाटरमार्क नहीं था. जब उनसे हमने  सम्बंधित वेबसाईट पिंक विला के उस पृष्ठ का यूआरएल माँगा तो उन्होंने मेल करने को कहा, किन्तु बाद में कोई मेल किया ही नहीं, हमने अपने स्तर पर पड़ताल की तो पाया कि उपरोक्त साईट पर हमारे फोटो थे ज़रूर,किन्तु वाटरमार्क के साथ(माने पिंक विला की गलती नहीं.. उसने तो उदयपुर ब्लॉग को पूरा पूरा क्रेडिट दिया) – (PINKVILLA.com : Article Link) हमारे पास जान्हवी सामंत का वो मेल भी मौजूद है, जिसमे उन्होंने साफ़ साफ़ कहा है कि फोटो को एडिट करने में या यूबी का वाटरमार्क हटाने में मिड डे का कोई हाथ नहीं,जबकि हकीकत कुछ और ही है.

 

उदयपुर ब्लॉग को कोई आपत्ति नहीं होती यदि ये समाचार पत्र समूह इन फोटो के लिए यूबी को आभार प्रकट कर देते. यदि इन अख़बारों की तरफ से मांग की जाती तो यूबी मूल फोटो इनको उपलब्ध करवा देता. किन्तु इस तरह एडिटिंग द्वारा वाटर मार्क हटाकर फोटो को अखबार में/ वेबसाईट पर प्रकाशित करना क्या “सर्वाधिकारों” का हनन नहीं ? क्या इसे कोपी राईट एक्ट का उल्लंघन नहीं कहेंगे ?

अब यूबी(UdaipurBlog) अपने 19 हज़ार से अधिक सदस्य पाठकों तथा अन्य विजिटर्स पाठकों से जानना चाहता है कि आगे क्या एक्शन लेना चाहिए…! आपकी राय के अनुसार ही हम सोच समझकर “कॉपी राईट” नियमों के खिलाफ किये गए इस कृत्य हेतु एक्शन लेंगे. उदयपुर ब्लॉग(UdaipurBlog.com) इस हेतु अपने सभी अधिकार सुरक्षित रखता है. इस लेख के द्वारा पुनः सम्बंधित समाचार पत्र समूहों से उनका पक्ष रखने की अपील उदयपुर ब्लॉग करता है. अन्यथा इस खबर पर आगे भी लगातार लेख प्रकाशित किये जाने की सम्भावना से यूबी इनकार नहीं करता.  यह तो हम हे जो आवाज़ उठा रहे हे नजाने कितने लोगो के साथ ऐसा किया होगा इन मीडिया वालो ने..!!

———————————-

डीस्क्लिमेयर (Disclaimer): जून 02, 2012 को ही हमने इस खबर को यूबी पर प्रकाशित करना चाहा, किन्तु पत्रकारिता के साधारण  नियमों के अनुसार किसी भी संगठन के खिलाफ या उनके कार्य विशेष के खिलाफ कोई विषयवस्तु प्रकाशित करने से पूर्व उन्हें पूर्वालोकन हेतु  प्रस्तुत करना आवश्यक होता है.इसी सन्दर्भ में  इस लेख को प्रकाशन से पूर्व सभी सम्बंधित समाचार पत्र समूहों को प्रूफ के साथ  भेजा गया और उनसे आपत्तियां आमंत्रित करनी चाही और उनका पक्ष जानना चाहा. इस सन्दर्भ में सभी को शनिवार  दिनाक 2 जून को प्रथम बार एवं सोमवार 4 जून को द्वितीय बार मेल किया गया. आपत्ति प्रस्तुत करने का अंतिम समय पहले शनिवार शाम को रखा गया किन्तु साप्ताहिक अवकाश के चलते बढाकर सोमवार शाम आठ बजे तक किया गया.

मिड डे की तरफ से सोमवार दोपहर में मेल एवं फोन द्वारा “माफ़ी नामा” आया किन्तु उसमे उन्होंने अपनी गलती ” पिंक विला” पर थोपनी चाही जो प्रथम दृष्टया सफ़ेद झूठ है. उस मेल को हू-ब-हू यहाँ प्रकाशित कर रहे है… इसके अतिरिक्त “देश का नंबर एक अखबार” होने का दंभ भरने वालो से लेकर “राजस्थान की माटी” से जुड़ा होने का दावा करने वाले पुराने अखबार और यहाँ तक कि उदयपुर के ही सूरजपोल से प्रकाशित होने वाले एक अन्य अखबार (जिसने इस फोटो को हर खबर के साथ छापा और दावा किया कि खबर भी सबसे पहले उसी ने प्रस्तुत की है) ने अपनी तरफ से कोई प्रतिक्रिया या पक्ष रखने की ज़रूरत ही नहीं समझी, जबकि उन्हें कई बार फोन किया गया अथवा मेल किया गया.

मिड डे द्वारा प्रस्तुत क्षमा पत्र :

Email Copy of : Janhavi.Samant (Mid Day , Editor)

(यद्यपि हम इस से सहमत नहीं है क्योंकि इसमें संपादक महोदया सफ़ेद झूठ बोल रही है, फिर भी मिड डे समाचार पत्र के अधिकारों की रक्षा करते हुए उनका पक्ष प्रस्तुत है)

For any queries, solutions – you can reach us on : info@udaipurblog.com

Facebook Comments

27 COMMENTS

  1. मिडिया को इसके अलावा करने भी क्या आता हे | अखबार में सिर्फ राजनेता द्वारा बोले जाने वाले शब्द आते हे, और वास्तविकता उससे बहुत अलग होती हे |

  2. Sale chotte….thiefs…at least they must had written regards udaipur blog…they should be sued for stoling the content…

  3. itz not a gud thing….don’t they feel embarassed by doing so…???
    atlest a credit shoul be alloted…

  4. Every photographer must receive the credit for his effort he puts in to shoot those images. organisation he works for is a second thing. Such reputed names must have common sense of at least letting the photographer get his required honor for clicking the photographs.

    Yet, UdaipurBlog, by all means has the rights to recieve the credits. at least the watermark should be retained in the copied pics too. but bluntly photoshopped.
    someone please tell me, how can a led light strip start just from air, see the stupid photoshopped pics clearly.

  5. Patrika, dainik bhaskar and pratahkal all are the same, suresh ji daily shares his thoughts on facebook and twitter about corrupt politicians, whereas his own newspaper steals content of this site. I would like to know comment of Mr. suresh goyal

  6. ये लोग ऐसा भी करते है ? किसी और के काम को एक्सक्ल्यूसिव बता कर मोटा धन कमाते है लोग सोचते होंगे कि मिड डे का पत्रकार उदयपुर तक पहुच गया और हकीकत ये कि ये लोग चोरी करते है मेरा यूबी को सुझाव है कि इनके खिलाफ बड़ा एक्शन लेना चाहिए

  7. pinkvilla gives full image credit to udaipurblog but this images are edited by the editor of mid-day and they remove your copyrighted watermark.

  8. i had faith in work of rajasthan patrika but in laugo ne aisa karke mera itne saale ka vishwas tod dia 🙁 the editor of patrika and other newspaper must apologize or else these udaipurblog ppl file a case against them.

  9. This is how people show their laziness and less interest in their dedicated job.I have seen UB member they are reall hard working and point to point.I wish UB get its credit asap.

  10. I’ve lived in India for over ten years now, and it is quite clear to me that notions of “intellectual property” or “copyright” are not respected here. The media steals stories and photos, photos are printed with no credit to the photographer, journalists lift words from people they interview and print those words as their own, artwork is blatantly copied by other “artists” and sold as their own work…the list goes on. It’s sad that Udaipur Blog’s work is being stolen, but the problem is epidemic in India. Until the courts start to punish this behavior with some huge fines, and people accept the fact that intellectual property theft is just that, THEFT, it will probably continue.

  11. UB se request karna chahunga ki bade se bada Action lene me na jhijhkein.
    Mid Day, Patrika, Bhaskar, Pratahkal, NDTV sabhi ko Legal Notice bhejna chahiye ki inko Court me kyo nahi ghasita jaye, jabki ye aise kaam karke poori Media ko badnaam kar rahe hai.
    Weldon UB Team.

  12. bhaskar/patrika walo,

    ab ek bhi chori-loot ki khabar chhap kar batao. kis muh se chhapoge? kyonki ek chor dusre chor ki fati me to tang adayega nahi.
    chor chor mausere bhai kahawat ab sach ho gayi, sab ke sab chor.
    Mid Day ki khabro par to channel documentry banate hai. to aisa hai mid-day ka kaam ? kahi se koi bhi chiz uthao, use fry karo aur paros do. bhar lo apn jeb

    udaipurblog.com ko aaj hi adalat ka darwaza khatkhatana chahiye. copyright act ko khilona samajhne walo ko unki aukat dikhani chahiye.

  13. @ Sanjit

    I think its about time that you should go ahead and file a copyright infringement lawsuit or ask the publishers’ for an apology in writing.

  14. Give them Notice ( Mid Day, NDTV , Patrika, Bhaskar, Pratahkal, ) for all this issue,

    All credits to you guys. fight for your rights.

  15. Hi,
    Actually this is not fault of these people, we must blame our education system!!

    People doesn’t know what are ethics and plagiarism because these are missing from our education system?

    these were always at the core of our ancient education system now these are ignored ..

    We must teach a lesson to these lost souls

  16. really shame on big media people they are using small ventures credit to marketing their thing and when want clarification giving their useless explanation

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.